, ,

उसी थाने में IPS बनकर पदभार संभाला, जहाँ उनके पिता बढ़ई का काम किया करते थे

किशोरावस्था में जब करियर की जद्दोजहद होती है तो यह बात बहुत ही सामान्य है कि हम अपने आसपास के माहौल, किसी व्यक्ति विशेष या फिर किसी घटना से प्रेरित होते हैं और उन पर अमल भी शुरू कर देते हैं। लेकिन सुखद नतीजों के साथ-साथ कई बार उनमें अन्तर्निहित सच्चाई जाने बिना व्यावहारिक जीवन में वैसा करना कष्टप्रद भी हो जाता है। ऐसी ही एक रियल लाइफ स्टोरी है 2009 बैच की आईपीएस ऑफिसर संगीता कालिया की। उनकी कहानी इसलिये भी दिलचस्प है क्योंकि वे दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाली एक धारावाहिक देखकर प्रेरित हुईं और आईपीएस ऑफिसर बनीं। दूसरी ओर जब उन्होंने व्यवस्था को बदलने का बीड़ा उठाया तो उन्हें प्रताड़ना भी झेलनी पड़ी।

यह सच है कि सरकारी सेवा में तबादला, पदोन्नति तो मान्य सेवा शर्तों में शामिल है लेकिन कई बार तबादले प्रताड़ना के लिये भी इस्तेमाल होते हैं। संगीता के साथ भी ऐसा ही हुआ, उनकी गलती सिर्फ इतनी थी कि उन्होंने एक मीटिंग के दौरान मंत्री से ऊंची आवाज़ में बात कर ली और उससे भिड़ गई थीं।  महिला एसपी संगीता कालिया जो एक जमाने में रेवाड़ी की पुलिस अधीक्षक हुआ करती थीं लेकिन अब उनका तबादला पानीपत कर दिया गया।

भिवानी की रहने वाली इस तेजतर्रार अफ़सर की कहानी किसी फिल्म से कम नहीं है। एक बढ़ई की बेटी होने के नाते एसपी बनना अपने आप में ही काबिलियत की बात है, कारपेंटर, यानी जाहिर है घर में स्थिति कैसी होगी और ऐसे अभाव में भी इस पद तक पहुंचना सच में काबिले ए तारीफ है। आईपीएस बनने का सपना लिए संगीता की राह में तमाम तरह की अड़चनें आई किन्तु उन्होंने कभी हार नहीं मानी और अपने सपने को पूरा करके ही दम लिया। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि इस पद तक पहुँचने के लिए उन्होंने छह नौकरियों का त्याग किया।

खास बात यह है कि संगीता की पहली ज्वाइनिंग उसी थाने में हुई, जहां उनके पिता धर्मपाल कारपेंटर थे।

एक घटना की वजह से आई चर्चा में 

हरियाणा के फतेहाबाद जिले की तेजतर्रार एसपी संगीता भी अन्य एसपी की तरह अपना काम कर रही थी लेकिन एक घटना ने उन्हें चर्चा में ला दिया। देखते ही देखते उनके और हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की बहस की चर्चा हर तरफ होने लगी। ये मामला 27 नवंबर 2015 का है, जहां एक शिकायत की सुनवाई के दौरान मंत्री विज ने कालिया को बाहर जाने के लिए कह दिया था, लेकिन कालिया ने उनकी बात नहीं सुनीं, जिस कारण विज के आत्मसम्मान को ठेस पहुंची, विज को खुद बैठक छोड़नी पड़ी थी। यह बात जंगल में आग की तरह ऐसी फैली कि मामला हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर तक जा पहुंचा। इस घटना के बाद उनका तबादला कर दिया गया था।

बेहद दिलचस्प है आईपीएस बनने की उनकी कहानी 

कालिया की एसपी बनने की कहानी भी कुछ दिलचस्प है, दरअसल बचपन में 1989 में दूरदर्शन पर आने वाला सीरियल उड़ान ने उन्हें एसपी बनने के लिए प्रेरित किया। बचपन से ही वह इस सपने के साथ बड़ी हुईं। आपकी जानकारी के लिए बताना चाहते हैं कि उड़ान सीरियल में एक ऐसी बच्ची कल्याणी की कहानी दिखाई गई थी जो अपने जिद और जुनून के बलबूते कुछ बड़ा कर गुजरने की ख्वाहिश रखती है और बड़ी होकर एक महिला पुलिस अधिकारी बनती है, जिसकी ईमानदारी की मिसाल दूर-दूर तक दी जाती है। कालिया ने भी ऐसा ही कुछ बनने की ठान ली थी।

संगीता को यह पद उनके तीसरे प्रयास में हासिल हुआ, उन्होंने साल 2005 में सिविल सर्विसेज की परीक्षा दी लेकिन वो सफल नहीं हो पाईं। दूसरी कोशिश में भी वे नाकामयाब रहीं लेकिन उन्हें भारतीय रेल सेवा में नौकरी मिली, जिसे उन्होंने ज्वाइन नहीं किया। आखिरकार तीसरे मौके में उन्हें भारतीय पुलिस सेवा में जाने का मौका मिला। संगीता ने यूपीएससी की परीक्षा में 651वां रैंक प्राप्त किया। उन्होंने हैदराबाद की सरदार वल्ल्भ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में 11 माह की ट्रेनिंग की और सेवा के लिए अपने राज्य को चुना।

ड्यूटी के दौरान हासिल की कई उपलब्धियां

फतेहाबाद की एसपी का पद संभालने से पहले वे गुड़गाँव में पदस्थ थीं और फिर रेवाडी व गुडगांव में एएसपी के पद पर भी रह चुकी हैं। इस दौरान उन्होंने कई मामले सुलझाए हैं, चाहे एटीएम फ्रॉड हो या फिर फतेहाबाद के ढिंगसाला गांव में 25 लाख की बैंक डकैती, चाहे राहगीरी जैसे अभियान हों या फिर वृक्षारोपण जैसे सामाजिक काम, या फिर महिलाओं को आत्मरक्षा की ट्रेनिंग देने की मुहिम ही क्यों न हो, कालिया हर बार अपनी ईमानदारी की मिसाल पेश करती आईं हैं।

संगीता की कहानी कई मायनों में हमारे लिए प्रेरणादायक है। उन्होंने साबित किया कि यदि सपने को पूरा करने के लिए दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो कोई भी कठिनाई बाधा नहीं बन सकती है। साथ ही, परिस्थितियां कैसी भी क्यों न हो ईमानदारी से कभी समझौता नहीं करना चाहिए।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें 

आपका कमेंट लिखें