, ,

इस युवा IAS ने भ्रष्टाचारियों के खिलाफ़ ताबड़तोड़ कार्यवाही कर चंद महीनों में बदल दी शहर की तस्वीर

अपने कर्तव्यों के प्रति संकल्पित अधिकारी व्यवस्था में परिवर्तन और सुदृढीकरण तो करते ही हैं साथ ही ऐसे उदाहरण स्थापित करते हैं जो सभी के लिए अनुकरनीय बन जाता है। ऐसे ही कुछ युवा प्रशासनिक अधिकारीयों ने अपने क्षेत्र में कई उल्लेखनीय कार्यों से न सिर्फ भ्रष्ट और कुगठित व्यवस्था को ठीक कर रहे हैं बल्कि अपराधियों की हिम्मत को तोड़ कर रख दिया है। इसी कड़ी में अपने प्रशंसनीय कार्यों के लिए हजारीबाग, झारखण्ड क्षेत्र के नवनियुक्त आई.ए.एस आदित्य रंजन का नाम जुड़ गया है जिन्हें स्थानीय जनता ने सिंघम और दबंग अधिकारी के रुप में एक नई पहचान दी है।

एक व्यवसायी परिवार में जन्मे 2015 बैच के झारखण्ड कैडर के आई.ए.एस. आदित्य बोकारो में पले बढ़े। 10वीं तक की शिक्षा उन्होंने अपने गाँव के सरकारी माध्यमिक विद्यालय से प्राप्त की और आगे की पढ़ाई बोकारो से पूरी की। अपनी मेहनत और काबिलियत से उन्होंने संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में उच्च स्थान सुनिश्चित किया। उनका पहला पदस्थापना अनुमंडल पदाधिकारी, हजारीबाग सदर के रुप में 3 अक्टूबर, 2017 से हजारीबाग जिले में हुआ है। उन्होंने प्रशासनिक सेवा की राह इसलिए चुनी क्योंकि जनता की सेवा करने का यह सबसे सटीक और कारगर राह है।

बीआईटी, मेसरा से कंप्यूटर विज्ञान में इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद लगभग 2 वर्ष उन्होंने बेंगलुरु में एक मल्टीनेशनल आईटी कम्पनी में काम किया। मगर प्रारंभ से ही उनका झुकाव उद्यमिता और समाजिक कार्यों में रहा। वे विभिन्न सामाजिक क्रिया-कलापों में हमेशा से बढ़ चढ़ कर भाग लेते रहे हैं। उन्होंने जब अपनी नौकरी छोड़ कर UPSC की तैयारी शुरु की तो इस बारे में किसी को भी नहीं बताया। जब तक लोगों को पता चलता तब तक उन्होंने अपने दूसरे प्रयास में IRS निकाल चुके थे मगर उन्हें इससे संतुष्टि नहीं थी।

परीक्षा के बाद के समय में जब वे अपने पिता और भाई के साथ दुकान में होते तो उनके ऊपर कई तरह के व्यंगात्मक सवाल और तंज कसे जाते थे। लेकिन उन्होंने किसी की परवाह नहीं की और अपनी तैयारी को जारी रखा।

आईएएस बनने के बाद अपनी पहली पदस्थापना में इस क्षेत्र में फैली विभिन्न अनियमितताओं का उन्होंने अवलोकन कर युद्धस्तर पर उससे निपटने के लिए कमर कस ली। उनके प्रयासों से अवैध और अनैतिक काम करनेवालों की रीढ़ में उनके नाम से ही सिहरन दौड़ जाती है। अपने अभी तक के अल्पावधीकाल में आदित्य रंजन के कुछ श्रेयस्कर कार्यों की फेहरिस्त कुछ ऐसी रही है।

जय प्रकाश नारायण केन्द्रीय कारावास में छापा

केन्द्रीय कारागार हजारीबाग में देर रात छापामारी कर 3 मोबाइल फोन, चार्जर, नशीले पदार्थ सहित 90 हजार रुपये नकद बरामद। छापामारी में एक ऐसा कागज मिला जिसमें सैकड़ों लोगों के साथ लेनदेन का करोड़ों रुपये का हिसाब दर्ज है। इस संबंध में मामले की गहन जांच की जा रही है। दस दिनों में पाँच बड़े छापे डाले गए।

अवैध चावल व्यापार पर शिकंजा

हजारीबाग सदर अनुमंडल पदाधिकारी ने कटकमदाग प्रखंड के पसई में गुप्त सुचना के आधार पर चावल गोदाम में छापा मारा गया। 300 बैग से भी अधिक चावल ज़ब्त किये गए।

अतिक्रमणकारीयों पर बड़ी कार्यवाही

जिला प्रशासन के तत्वावधान में डेली मार्केट, हिन्दु हाई स्कूल रोड, पी टी सी चौक से कौर्रा चौक तक अभियान चला कर अतिक्रमण हटाया गया। इस मौके पर दर्जनों गुमटियों, होर्डिंग व सामानों को नगर निगम ने जब्त कर लिया।

बिना सरकारी फण्ड के सड़क चौड़ीकरण

सड़क के किनारे के अवैध खैनी तम्बाकू और छोटे दुकानों के साथ-साथ बड़े दुकानों को हटाया गया। साथ ही एक छोटे से मंदिर को विधिवत पंडित जी साथ मिलकर बड़े मंदिर में स्थापित किया। सूखे पेड़ और पोल को हटा कर 2 ही दिनों में एक कम्पनी और पी.डब्लू.डी. की मदद से बोल्डर गिराकर प्लेन किया गया।

दुकानदारों पर कोटपा एक्ट के तहत कार्रवाई

एक्ट के उल्लंघन के आरोप में दर्जनों दुकानदारों पर 200 से 9200 रुपये तक लगाया गया जुर्माना । जुर्माना के रूप में 60 हजार से अधिक राशि की वसूली की गई। 8:30 से 10:30 बजे रात तक सरकारी बस स्टैंड, झंडा चौक, इन्द्रपुरी चौक स्थित दुकानों का औचक निरीक्षण किया गया। अधिकतर दुकानदारों से दुकानों में खुला सिगरेट बेचने तथा दुकानों में वैधानिक चेतावनी वाले बोर्ड नहीं लगाने के कारण लगा जुर्माना। सार्वजनिक स्थानों पर धुम्रपान करना कोटपा एक्ट का उल्लंघन है। उन्होंने दुकानदारों को दुकानों पर अनिवार्य रूप से वैधानिक चेतावनी का बोर्ड लगाने, दुकानों पर सिगरेट आदि का बोर्ड लगा कर प्रचार प्रसार नहीं करने, सिगरेट खुले में नहीं बेचने की अपील की है अन्यथा पकड़े जाने पर सख्त कार्रवाई का संदेश दिया।

अवैध कोयला ट्रकों पर गिरी गाज़

एक बड़ी कार्रवाई करते हुए कोयला से लदे 40 से अधिक ट्रकों को पकड़ा, बड़कागांव रोड में की कार्रवाई, सभी ट्रकों को मोटर व्हीकल एक्ट के उल्लंघन के आरोप में पकड़ा।

निजी नर्सिंग होम की पड़ताल

दिनभर की गई इस कार्यवाही में 74 नर्सिंग होम्स की पड़ताल की गई। जिसमें भारी अनियमितता पाई गई। इन नर्सिंग होमों मे न तो निबंधन और न ही किसी प्रावधानों का अनुसरण पाया गया। कच्चे बिल के सहारे चल रहा था सब कुछ। इलाज की व्यवस्था और पर्याप्त सुविधाओं का अभाव पाया गया। जाँच घर निर्धारित मापदंड पर नहीं थे और पर्याप्त डिग्रियों का भी अभाव था। सभी को 7 दिनो तक सब दुरुस्त करने के लिए सख्त निर्देश दिया गया।

किरोसिन तेल की काला बजारी पर चोट

हजारीबाग के इचाक मोड़ के तीन दुकानों से 10,000 लीटर से अधिक केरोसिन तेल बरामद। इस कार्रवाई में पांच लोग हिरासत में लिए गए।

बालू के अवैध व्यापार पर रोक

एक सुबह 4:30 बजे से की छापेमारी में बिना चालान के बालू से लदे लगभग 40 ट्रैक्टर जब्त कर अग्रतर कार्यवाई की गई।

अवैध शराब निर्माण और स्पिरिट की धड़ पकड़

एक अन्य बड़ी कार्रवाई में भारी मात्रा में अवैध स्पिरिट और शराब बरामद किया। वहीं एक अन्य स्थान पर छापेमारी कर अवैध शराब निर्माण स्थल पर कार्यवाही कर सैकड़ों लीटर शराब बरामद कर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया।

लॉटरी टिकट खरीद और जुए के धंधे का पर्दाफाश

लॉटरी अधिनियम और जुआ अधिनियम के तहत पेलावल में अवैध लॉटरी टिकट बेचने का धंधा जोरों से चल रहा था। गुप्त सूचना मिलने पर एसडीओ ने रणनीति के तहत पहले सिविल में एक सिपाही को टिकट खरीदने भेजा। सिपाही जैसे ही टिकट ख़रीद कर वापस लौटा तभी एसडीओ और अन्य अधिकारी वहाँ पहुँचे। इसी दौरान पेलावल पुलिस दल-बल के साथ स्थल पर पहुँचकर अभियुक्तों की धरपकड़ की।

अवैध ड्राईविंग लाईसेंस और कागज़ात बनाने वालों की जब्ती

हज़ारीबाग़ डिस्ट्रिक बोर्ड चौक स्थित अवैध रूप से चल रहे ड्राइविंग लाइसेंस व अन्य कागजात बनाने वाले ऑफिस को सील एक व्यक्ति की गिरफ्तारी भी की गई। 3 लाख रुपये, 22 मोटरसाइकिलें, 2 कार और भारी मात्रा में लाइसेंस व अन्य कागज़ात बरामद किए।

यातायात नियम तोड़ने वालों से बड़ी वसूली

ट्रैफिक नियम की कड़ाई से पालन को निश्चित करते हुए नियम तोड़ने वालो पर सख़्त कार्यवाही करते हुए अबतक 25 लाख से अधिक राशि राजस्व खाते में जमा कराई।

अवैध लकड़ी के व्यापार पर शिकंजा

अवैध लाटरी, जुए व क्रशर के बाद उन्होंने लकड़ी तस्करों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए भारी मात्र में कटकमसांडी के खूटरा से दो आरा मशीन व चार ट्रक लकड़ी सहित सात लोगों को हिरासत में लिया। वहीं दूसरी ओर चौपारण के चंदवारा सीमा जंगल में गुप्त सूचना पर छापेमारी कर एक अवैध आरा मशीन तथा करीब दो ट्रक लकड़ी बरामद की है।

सेक्स रैकेट चलाना पड़ा भारी

जिले के सरकारी बस स्टैंड के निकट स्थित एक रेस्ट हाउस में संदिग्ध हालत में प्रेमी जोड़े को पकड़ा गया। एक गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी किया गया। होटल का रजिस्टर गलत तरीके से चलाया जा रहा था। किसी व्यक्ति का आधार कार्ड सबमिट नहीं किया गया था। नियमानुसार कोई भी बाहरी व्यक्ति के साथ भी अगर होटल में रहते हैं तो सभी का आधार कार्ड सबमिट करना होता है।

केनफ़ोलिओज़ से विशेष बातचीत में उन्होंने युवाओं के लिए कहा, “आपको जिस काम से प्यार ह वह करो और जो करते हो उससे प्यार करो, और जो भी करते हो वह विस्तृत पटल पर करो।”

आदित्य रंजन के कार्यवाही से जहाँ आम जनता काफी खुश है, विधि व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लिए बहुत ही आशान्वित है वहीं गलत काम करने वालों की शामत आ गई है। ऐसे ही कर्मठी और प्रतिबद्धित अधिकारियों से हमारे देश में एक सुव्यवस्थित, सुचारु, भ्रष्टाचार और भय मुक्त वातावरण का निर्माण होगा और सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। ऐसे दिलेर अधिकारी को आमजन के ओर से ढेरों सम्मान है।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें 

आपका कमेंट लिखें