,

टूटी पटरी पर आ रही ट्रेन को देख इस 12 साल के बच्चे ने जो किया उसे जान आप भी करेंगे वाह-वाह

कई बार बच्चें कुछ ऐसा कर जाते हैं जिनकी उम्मीद केवल बड़ों से की जाती है लेकिन बच्चों की सूझबूझ के आगे बड़े-बड़े भी दाँतों तले उंगलियां दबाने पर मजबूर हो जाते हैं। हमारी आज की कहानी भी एक ऐसे ही बहादुर बच्चे की है जिसने अपनी सूझबूझ और त्वरित निर्णय क्षमता का परिचय देते हुए देश में फिर से होने वाले एक बड़े रेल हादसे को रोक दिया।

जी हाँ, ये वाक़या कुछ ज्यादा पुराना नहीं है। हाल ही में 18 दिसम्बर को जब भीम यादव नाम के 12 साल के बच्चें ने बड़ा रेल हादसा रोककर कई जिंदगियों को तबाह होने से बचाया। बिहार के भीम यादव को इन दिनों पूरा देश शाबाशी दे रहा हैं।

बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के बगहा में 18 दिसम्बर को सुबह तकरीबन 11 बजे वाल्मीकि नगर से बगहा के लिए जाने वाली 55072 पैसेंजर ट्रेन गोरखपुर-नरकटियागंज रेलवे ट्रैक पर आ रही थी लेकिन अवसानी हाल्ट के पास रेल की पटरी टूटी हुई थी जिसके बारे में ड्राइवर को किसी प्रकार की कोई सूचना नहीं थी। तभी वहां से अपने खेतों की तरफ गुजर रहे भीम की नजर अचानक टूटे हुए रेलवे ट्रैक पर पड़ी और दूर से ही उसने ट्रेन के आने की आहट को महसूस किया। बस फिर क्या था भीम ने कड़ाके की ठंड में भी तुरंत अपनी पहनी हुई लाल रंग की टी शर्ट उतारी और पटरी पर ही ट्रेन की ओर टी शर्ट लहराते हुए चिल्लाकर भागने लगा। हालांकि समय बहुत कम था और गेटमैन ने भीम को दौड़ते देखते ही तुरंत ड्राइवर को इशारा दिया और ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर गाड़ी रोक दी और कई जिंदगियां भीम की बहादुरी और सूझबूझ से बच पाई।

इसके बाद तत्काल मौके पर रेलवे अधिकारियों को बुलाया गया। उन्होंने न केवल भीम की तारीफ की बल्कि उसे इनाम देने का भी फैसला किया है। साथ ही भीम के अदम्य साहस और सूझबूझ के लिए सरकार द्वारा भी उसे पुरस्कृत किया जाएगा।

जिला शिक्षा अधिकारी हरेंद्र झा ने कहा कि “वास्तव में भीम ने जो किया है वह वाकई में बहादुरी भरा कदम है हम उसे उसकी बहादुरी के लिए और यात्रियों की जान बचाने के लिए उसे नकद या फिर कोई प्रमाण पत्र देकर सम्मानित करेंगे।” ईस्ट सेंट्रल रेलवे के चीफ़ पब्लिक रिलेशन ऑफ़िसर राजेश कुमार ने भी कहा कि “वास्तव में हमें इस बहादुर लड़के पर गर्व है और हम उसकी बहादुरी को सलाम करते हैं।”

इतना ही नहीं भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी भीम को रियल हीरो बताते हुए उसकी तस्वीर ट्वीट किया और कहा कि “भीम हमारा सच्चा हीरो है।”

भीम की बहादुरी की जितनी तारीफ़ की जाए वह कम है हम इस बालक की बहादुरी को सलाम करते हैं जिसने एक बड़े रेल हादसे को घटित होने से बचाया।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें 

आपका कमेंट लिखें