, ,

एक साधारण से आइडिया ने इस लड़की को बना दिया 1000 करोड़ की कंपनी की मालकिन

हर सफल चल रहे बिज़नेस के पीछे ऐसा कोई नायक ज़रूर होता है जो औरों के प्रति संवेदना युक्त मन लिए होता है। बहुत से सफल व्यक्ति बहुत सी समस्याओं का हल सिर्फ इस लिए ढूढ़ पाते हैं क्योंकि वे खुद को उन समस्याओं से जूझ रहे लोगों की जगह रख कर सोच पाते हैं। एक अमेरिकन एक्ट्रेस जेसिका ऐल्बा ने भी अन्य लोगों की तरह बहुत सी समस्याओं का सामना किया। परन्तु समस्याओं के समाधान के प्रति उनकी इच्छा और उसके लिए किये गए ढेर सारे उनके प्रयासों से ही एक बिलियन डॉलर – बिज़नेस का जन्म हुआ।

जेसिका का जन्म 28 अप्रैल 1981 में कैलिफोर्निया के पोमोना में हुआ था। जेसिका ने बचपन में कई बिमारियों से दो-दो हाथ किया और उन्हें पांच बार ऑपरेशन से गुज़रना पड़ा। उनके पिता एयर-फोर्स में थे और इस वजह से 11 वर्ष के होते-होते जेसिका 11 स्कूल बदल चुकी थी। हर साल उन्हें एक नए बच्चे के रूप में स्कूल में परिचय करवाया जाता था। कई रोगों से जूझते हुए वे और भी मजबूत हो गयी थीं और यहीं से उन्होंने सहानुभूति और करुणा के रूप में जीवन का सबसे महत्वपूर्ण सबक सीख लिया था।

बचपन के असहज अनुभवों ने उनके लिए मजबूत भविष्य की नींव रखी और इसी की मदद से वे हॉलीवुड की सबसे सफल अभिनेत्री बन पाईं । लेकिन उनके लिए दुश्वारियां और भी थीं । जब जेसिका गर्भवती हुई, तब उन्हें डिटर्जेंट पाउडर से एलर्जी हो गई। तब उन्हें महसूस हुआ कि सभी लोग अपने दैनिक जीवन में हजारों ऐसे प्रोडक्ट का उपयोग करते होंगे जिसमें टॉक्सिक केमिकल भरपूर मात्रा में होता होगा। इसी कारण से उन्होंने हमेशा आर्गेनिक प्रोडक्ट खरीदना शुरू कर दिया।

और यहीं से जेसिका के मन में ऑर्गैनिक प्रोडक्ट को लेकर उधेड़ बुन शुरू हो गई। वह एक ऐसा ब्रांड बनाना चाहती थी जिस पर सभी विश्वास कर सकें। उनका शुरूआती आइडिया बहुत ही साधारण था। जेसिका चाहती थी कि उनके इर्द-गिर्द की दुनिया से तरह से प्राकृतिक हो, जिससे वे एक स्वस्थ पर्यावरण बनाने में अपना योगदान दे सके खासकर गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं के लिए। उन्होंने एक पर्यावरण साइंटिस्ट क्रिस्टोफर गावीगन के साथ मिलकर एक टीम बनाई और दोनों ने इस काम में कड़ी मेहनत शुरू कर दी और अपने सपनों को हक़ीक़त में तब्दील करने में लग गए। 2012 में उन्होंने अपना वेंचर द ऑनेस्ट कंपनी लांच किया।

शुरूआत में द ऑनेस्ट कंपनी केवल “वाइप्स” और नवजात शिशुओं के डायपर ही बेचा करते थे। उसके बाद और विस्तार करते हुए वे लगभग सारे बेबी प्रोडक्ट्स रखने लगे जैसे बेबी फीड, विटामिन्स, ऑयल्स, शैम्पूस, लॉन्ड्री डिटर्जेंट आदि। बहुत लोगों से ताने भी मिलते, जैसे कि यह कंपनी जल्द ही जमीन पर आ जायेगी परन्तु जेसिका और उनकी टीम ने इसे गलत सिद्ध कर दिखाया। 2013 में इनकी कंपनी का रेवेन्यू 50 मिलियन डॉलर था और 2017 के अंत तक इसकी कीमत 1.7 बिलियन डॉलर हो गयी।

इन सब उपलब्धियों के अलावा जेसिका चैरिटीज में भी काफ़ी मदद करती हैं। वे प्रोजेक्ट HOME, हैबिटल फॉर ह्यूमैनिटी, ONE, और सफर केमिकल्स हेल्दी फैमिलीज़ आदि के लिए चैरिटीज में अपना योगदान दे रही हैं।
जेसिका उन सभी महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं जो अपने सपने पूरा करना चाहती हैं और अपनी उपलब्धियों को नई ऊंचाई तक लेकर जाना चाहती हैं। उन्होंने यह दिखा दिया है कि एक साधारण सा आईडिया कैसे मार्केट के साथ-साथ अपने व्यक्तिगत जीवन में भी क्रांति ला देता हैं। नकारात्मक प्रतिक्रिया के बावजूद उन्होंने अपने आपको अपने मिशन से डिगने नहीं दिया और मजबूती से खड़ी रहीं। ऐसा मिशन जिसने सारी कॉस्मेटिक इंडस्ट्री को ही `बदल कर रख दिया।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें 

आपका कमेंट लिखें