,

फ़िल्मी दुनिया के इन 11 हस्तियों ने समाज कल्याण के लिए जो कार्य किया है उसे हम जानते तक नहीं

सितारों की जिन्दगी पार्टियों और अपने प्रशंसकों को ऑटोग्राफ देने से आगे भी काफी कुछ होती है। जो हमें दिखता है उसके अलावा उनकी जीवनचर्या में और भी काफी कुछ रहता है। समाज सेवा का उनका अपना तरीका होता है और वे सतत रुप से अपने आस-पास के वंचितों, पिछड़ों और जरूरतमंदों के जीवन की बेहतरी के लिए प्रयास करते हैं।

इस नव वर्ष की शुरुआत में हम ऐसे ही कुछ जाने-माने चेहरों से आपको रू-बरू करा रहे हैं जिन्होंने समाज सेवा की भावना से काफी कुछ किया है।

1. नाना पाटेकर

इस दिग्गज अभिनेता ने मनोरंजन के अलावा जरूरतमंदों को काफी कुछ दिया है। नाना पाटेकर हमें काफी कुछ सीखा सकते हैं कि किस प्रकार से उन निर्धन जरूरतमंदों की सहायता की जाए जो कभी मदद की गुहार नहीं करते। रिपोर्टों के मुताबिक उन्होंने अपने जीवन की गाढ़ी कमाई का 90 फीसदी हिस्सा किसानों की उन्नति के लिए दान किया है। नाना हमेशा उन दुःखी किसान परिवारों के साथ होते हैं जिसके घर के इकलौते कमाऊ सदस्य ने परिस्थितिवश आत्महत्या कर ली हो। नाना ने ऐसे 62 परिवार को 15,000 रुपये दान किए हैं। ।

2. कमल हसन

एक असाधारण कलाकार होने के साथ-साथ कमल हसन एड्स पीड़ित बच्चों की मदद भी करते हैं। अपनी कोई गलती किए बीना ये बच्चे कष्ट झेल रहे हैं। 2010 में जब उन्हें हृदयरागम की एक परियोजना का मैनेजर बनाया गया, जिस मुहिम के तहत हृदय शल्य चिकित्सा और एड्स पीड़ित बच्चों के लिए रकम जुटाने की थी, उन्होंने उन अनाथ बच्चों के लिए बहुत बड़ी रकम इक्कठा की। एक-एक पैसे का उपयोग बच्चों के बेहतर इलाज के लिए किया गया।

3. अक्षय कुमार

इनके जनकल्याण के कार्यों की फेहरिस्त से हमें गर्व महसूस होता हैं। इन्होंने महाराष्ट्र में सूखे की बदहाली के कारण आत्महत्या करनेवाले किसानों के संकटग्रस्त परिवारों की मदद की। इन परिवारों पर पड़ी विभीषिका ने उन्हें इस कदर झकझोर दिया कि उन्होंने पूरे उस गाँव को गोद ले लिया जो गाँव किसानों की आत्महत्या के सबसे अधिक मुसीबतों के दौर से गुजर रहा था। उन्होंने समग्र रुप से 180 परिवारों के बीच 90 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जो बहुत ज्यादा निर्धनता से ग्रस्त थे।

साथ ही इन्होंने आत्मरक्षा शिविरों की शुरुआत कर 4000 से भी अधिक महिलाओं के निःशुल्क प्रशिक्षण दिया है। उनके सहयोग का योगदान समाज के प्रत्येक वर्ग तक पहुँचा है। उनकी नजर में राष्ट्र और इसके लोग सबसे ऊपर हैं। उन्होंने 1.08 करोड़ रुपये की धनराशि देश के 12 अमर शहीद जवानों के परिवारों को दिया है।

4. शबाना आज़मी

शबाना आजमी एक सक्रिय सामाजिक कार्यकर्ता हैं। उन्होंने आगे बढ़ कर अपने हाथ उन सामाजिक कलंकों को मिटाने के लिए दिए हैं जिन्हें वे अपने फिल्मों के माध्यम से भी दर्शाती रहती हैं और इस प्रकार वृहत स्तर पर जागरुकता फैलाती हैं। उन्होंने वरिष्ठ पत्रकार गौसी लंकेश की हत्या पर भी पूरी तीव्रता से विरोध प्रदर्शन किया था।

शबाना महिलाओं के अधिकारों की सुरक्षा के लिए भी काफी कुछ करती हैं। फिल्म उद्योग में महिलाओं को एक वस्तु के रुप में प्रयोग का भी विरोध किया है। उनका अपरिमार्जित और काबिल-ए-तारीफ कार्य, एड्स पीड़ितों के प्रति बने पूर्वाग्रहों के दूर करने के लिए उठाए गए कदम है। इनके जैसे ऊँचे कद के प्रख्यात कलाकार के सहयोगपूर्ण भागीदारी से एड्स के योद्धाओं को नया बल मिला है और वे उनके हक के दिलाने के लिए अधिक उर्जा से आगे आ रहे हैं।

5. जाॅन अब्राहम

जाॅन अब्राहम कई पुनीत कार्य गुमसुम तरीके से करते हैं। वह अपने कामों को सुर्खियों से दूर रख कर जरुरतमंदों और पशुओं के लिए काम करते हैं। जाॅन बहुत ही सक्रिय रुप से जानवरों के हक के लिए संघर्ष करते हैं। वे ‘जाॅनस ब्रिगेड’ नामक एक संगठन चलाते हैं जो जरूरतमंदों को आश्रय प्रदान कराता है। वह बहुत ही सजग रुप से PETA के लिए काम करते हैं और उनके लिए अभियान चलाते हैं।

6. राहुल बोस

उनके गौरवपूर्ण आदाकारी के करीयर के साथ ही साथ उनकी एक विशिष्ठ पहचान उनके सामाज के प्रति किए गए योगदानों से़ भी है। एक मातृ संगठन के साथ उनके कई सहायक संगठन समूह हैं। राहुल के कुल 51 लोक हितैषी ट्रस्ट हैं। ये संगठन समाज के आर्थिक रुप से कमजोर निम्न तबके के बच्चों के उत्थान और शैक्षणिक विकास के लिए काम करते हैं। राहुल उनके कल्याणार्थ अण्डमान और निकोबार में कार्य करते हैं। अब तक वे कई ऐसे बच्चों की जिन्दगी को बेहतर बनाने में सफल रहे हैं

7. गुल पनाग

पूर्व मिस इंडिया और एक बेहतरीन अदाकारा गुल पनाग, एक विराट दिलवाली हैं। एक जिम्मेदार नागरिक के रुप में वे अभावग्रस्तों की मदद करने में अपने बेहद विनीत रुप में गर्व महसूस करती हैं। वर्तमान में वह एक संगठन संचालित कर रही हैं जिसका नाम ‘गुलफाॅरचेंज’ है, जो आपदा प्रबंधन, लैंगिक समानता और शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े कई सामाजिक कार्य कर रहा है।

वह ‘श्रद्धा चैरिटेबल ट्रस्ट’ से भी जड़ी हैं। यह एक कार्यशाला है, जहाँ मानसिक रुप से कमजोर युवाओ को व्यवसायिक प्रशिक्षण और सामान्य शिक्षा प्रदान करती है। उनके प्रयास बहुमूल्य है और बहुत ही प्रसंशनीय हैं।

8. काजोल

हर कोई काजोल के सौम्य व्यक्तित्व की प्रशंसा करता है। एक सुप्रसिद्ध अदाकारा होने के साथ ही साथ वे कई मानव कल्याण के उपक्रमों से भी जुड़ी हुई हैं। वे ‘शिक्षा’ नामक संस्था से भी जुड़ी हैं जो वंचित वर्गों के बच्चों की शिक्षा के लिए समर्पित है। एड्स और कैंसर के मरीज़ों की बेहतरी के लिए फंड की व्यवस्था हेतु वे फैशन शो में भी भाग लिया करती हैं। सफलता को अपने उपर हावी न करके वे अपने ही तरीकों से अभावग्रस्तों की मदद करती हैं।

 

9. प्रियंका चोपड़ा

प्रियंका न सिर्फ बाॅलीवुड में सबसे अधिक भुकतान की जानेवाली अदाकारा है बल्कि वह एक दानशील आत्मा भी रखती हैं। प्रियंका यूनिसेफ़ के सद्भावना राजदूत होने के साथ-साथ वे समस्त भारत के वंचित वर्ग के बच्चों के स्वास्थ और शिक्षा के लिए स्वयं की संस्था प्रियंका चोपड़ा फाउंडेशन भी चलाती हैं।

वह एक बहुत ही विलक्षण प्रतिभा की धनी हैं जो यह समझती हैं कि प्रकृति की सुरक्षा भी हमारी जिम्मेदारी है। इसके लिए वह वातावरण संबंधी कार्यों में हमेशा सहयोग करती हैं। प्रियंका ने मृत्यु के बाद अपने अंग दान करने की औपचारिकता भी की है।

10. शाहरुख खान

किंग खान न सिर्फ अपनी बेहतरीन अदाकारी से अपने दर्शकों का दिल जीत लेते हैं बल्कि वह बहुत सारे सामाजिक काम भी करते हैं। उन्होंने उड़ीसा के 12 गाँवों को गोद लेकर वहाँ का विद्युतीकरण करवाया। वे इन गाँवों को आगे लाने के लिए और भी योजनाएँ कर रहे हैं। उन्होंने नानावती अस्पताल के लिए भी योगदान किया है और पिछले 15 वर्षों से नेक कार्य कर रहे हैं।

इस अस्पताल विशेष में वह तब से और अधिक योगदान निभा रहे हैं जब से यहाँ बोन मैरो प्रत्यर्पण और जन्मदात्री केन्द्र की स्थापना हुई है। उन्होंने अपने अाईपीएल 7 की पूरी ईवाम राशी मुंबई और कोलकत्ता में कैंसर के अस्पताल में दान किया है।

11. सुष्मिता सेन

पूर्व विश्व सुन्दरी दो बेटियों की एक अविवाहित माँ हैं जिन्हें उन्होंने गोद लिया है। 2000 में उन्होंने रीनी को गोद लिया था जब यह सुन्दरी महज 25 वर्ष की थी और तीन महीने की अलिशा को उन्होंने 2009 में गोद लिया था। तब से वे इन बच्चियों के जीवन को नए आयाम दे रही हैं। वे एक ममतामयी माँ के साथ-साथ एक दरियादिल आत्मा भी हैं जिन्होंने न सिर्फ इन बच्चों के जीवन को बदला है बल्कि अपनी इस दिलेरी से लाखों को प्रेरित भी किया है।

कहा जाता है कि “यदि आपके पास आपकी आवश्यकता से अधिक है तो जिनके हाथ खाली हैं उनमें बाँट देना चाहिए।” इन प्रख्यात व्यक्तित्वों ने अभावग्रस्त, वंचित, दलित और शोषितों के लिए प्यार और मदद की जो हाथ बढ़ाई है, वह सच में बेहद प्रशंसनीय है।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें 

आपका कमेंट लिखें